logo

Whatsapp Number: +91-90416-06444

तेरी आशिकी ने ऐसा शायर बना दिया

की अब किसी को गाली भी दूं तो वो वाह वाह कर देता है

शिकवा नहीं है तुमने मुझको प्यार ना दिया

गिला है खत देते समय विचार ना किया

वो एक मौका तो दे हमे बात करने का.

वादा है

उन्हें भी रुला देंगे उन्ही के सितम सुना -सुना कर...

तुम किसी और से मालूम तो करके देखो

हम किसी ओर के कितने है और तुम्हारे कितने

पानी से भरी आँखें लेकर वह मुझे घूरता ही रहा,

वह आईने में खङा शख्स परेशान बहुत था आज ..!!

लिपट जाती जरुर अगर ज़माने का डर ना होता |
बसा लेती मै तुमको अगर सीने में घर होता

फासलें तो बढ़ा रहे हो मगर ये याद रखना

मोहब्बत बार बार यूँ किसी पर मेहरबान नही होती

मेरी हर दुआ बेकार गयी

न जाने किसने चाहा था इतनी शिद्दत से उसे !

आज अजीब किस्सा देखा हमने खुदखुशी का

एक शख्स ने ज़िन्दगी से तंग आकर महोब्बत कर ली

अगर तू वजह न पूँछे तो एक बात कहूँ,

बिन तेरे अब हमसे जिया नहीं जाता

अगर कुछ बनना है तो गुलाब बनो,

क्यों की ये फूल उसके हाथ में भी खुशबू छोड़ देता है,

जो इसे मसल कर फेक देता है,

मेरे आंसू और तेरी यादों का कोई तो रिश्ता जरूर है

कमबख्त जब भी आते है दोनों साथ ही आते है

भले थे तो किसी ने हाल त़क नहीं पूछा

बुरे बनते ही हर तरफ अपने चरचे हैं

तुम हक़ीक़त-ए-इश्क़ हों या फ़रेब मेरी आँखों का,

न दिल से निकलते हो न मेरी ज़िन्दगी में आते हो

Bolu agar jhoot tu mar jayega zameer

keh doo n agar main sach to mujhe maar denge log

मत पूछो कैसे गुजरता है हर पल तुम्हारे बिना,

कभी बात करने की हसरत
कभी देखने की तमन्ना...❗❗

हमने भी चाह था कभी एक ऐसे शख्स को

जो आईने से नाजुक था मगर था पत्थर का

जब भी देखता हुं हसते खिलखिलाते चेह्ररे लोगों के

दुआ करता हुं इन्हे कभी मोहब्बत ना हो

अगर मेरी शायरियों से बुरा लगे तो बता देना दोस्तों

मैं दर्द बाँटने के लिए लिखता हूँ दर्द देने के लिए नही

और भी बनती लकीरें दर्द की

शुक्र है खुदा तेरा जो हाथ छोटे दिए

Load More
Top