logo

Whatsapp Number: +91-90416-06444

मोहब्बत तो पाक थी है और रहेगी

शर्मिंदा तो इसे खोखले रिवाज़ों और दोगले लोगों ने कर रखा है

हम गरीब लोग है किसी को मोहब्बत के सिवा क्या देंगे.

एक मुस्कराहट थी, वह भी बेवफ़ा लोगो ने छीन ली.,

तुझे जमाने का डर है मुझसे बात न कर

दिल में कोई और है तो मुझसे बात न कर

उन पर बीतेगी तो वो भी जान जायेंगे ऐ दोस्त

जब कोई नजर अदांज करता हैं तो कितना दर्द होता है

जिस्म की बात नही थी उनके दिल तक जाना था

लम्बी दूरी तय करने में वक़्त तो लगता है

हमसफ़र होता कोई तो बाँट लेते दूरियाँ

राह चलते लोग क्या समझें मेरी मजबूरियाँ

अपने उसूल कभी यूँ भी तोड़ने पड़े खता उसकी थी

हाथ मुझे जोड़ने पड़े

Ek nafrat hi hai jise duniya chand lamho me
jaan leti hai,
.
.
.
.
Warna chahat ka yakeen dilane me to
zindagi beet jati hai..

Dhadkano Ko Bhi Rasta Dijiyea Saahib

Aap To Poore Dil Par Qabza Kiyea Baithe Hai

कौन किसी के दुःख का साथी

अपने आंसू अपना दामन

रफ़्तार में तेरे चलने से कुछ रूठ गए कुछ छूट गए

रूठों को मनाना बाकी है रोतों को हँसाना बाकी है

वक़्त बीतने के बाद अक़्सर ये अहसास होता है कि

जो छूट गया वो लम्हा ज्यादा बेहतर था

कुछ इस तरहा से सौदा कीया मुझसे मेरे वक़्त ने

तजुर्बे देकर वो मुझसे मेरी नादानीया ले गया

er kasz

दर्द बनाकर रख लो मुझे

सुना है दर्द बहुत वक्त तक साथ रहता है

इतना दर्द तो मोत भी नहीं देती है
जितना तेरी ख़ामोशी ने दिया है…

खुशियाँ भी तरसती हैं मुझसे मिलने को और ग़म तो जैसे

कोई जिगरी यार हो मेरा

चले आती है कमरे में दबे पाँव ही हर दफ़े

तुम्हारी यादों को दरवाज़ा खटखटाने की भी तमीज़ नहीं

मुझे तो पहले से ही मैगी पर शक था

एक तो फीमेल औऱ दो मिनट में तैयार कुछ गड़बड़ ज़रूर है

दरवाज़ों के शीशे न बदलवा

लोगों ने अभी हाथ से पत्थर नहीं फेंके

मुझे मेरी कल कि फिकर नही है,

पर ख्वाईश तो उसे पाने की जन्नत तक रहेगी....

Load More
Top