logo

Whatsapp Number: +91-90416-06444

अजीब मजाक करती हैं यह नौकरी काम मजदूरों वाले कराती हैं

और लोग साहब कहकर बुलाते हैं

कुछ लोग मेरी शायरी से सीते हैं अपने जख्म

कुछ लोगों को मैं चुभता हूँ सुई की नोक के जैसे

दुश्मन हो तो इश्क जेसा

सीधे दिल पर वार करे

Na padhna meri aankhon ki sacchai

Mujhe darr h kahi tumhe pyar ho gya to

कैसे कह दूँ तुमसे हमें मोहब्बत नहीं

मुंह से निकला झूठ एक दिन आँखों से पकड़ा जायेगा

रात बीत गई तेरी बाहो मे

मै ढुढता रहा तुझको अपनी बाहो में ...❗❗

ऐसे जख्मों का क्या करे कोई

जिन्हें मरहम से आग लग जाए

सुन कर ग़ज़ल मेरी वो अंदाज़ बदल कर बोले

कोई छीनो कलम इससे ये तो जान ले रहा है

er kasz

नाराजगी, डर, नफरत, या फिर प्यार

कुछ तो जरुर है जो तुम मुझ से दूर दूर रहते हो

हर एक शक्स खफा मुझसे अंजुमन में था

क्यूँकि मेरे लब पे वही था जो मेरे मन में था

Suno Wo Jo Tera kch Ni Lgta

Tujh Bin Pareshan Rhta Hai

बेशक तेरे हजारो दीवाने थे पर जब बात महोब्बत की आई

दुनीया वालो ने अकसर मुजे याद कीया

खफा नहीं हूँ तुझसे ए जिंदगी

बस जरा दिल लगा बैठा हूँ इन उदासियों से

Bolu agar jhoot tu mar jayega zameer

keh doo n agar main sach to mujhe maar denge log

मुस्कुरा के देखो तो सारा जहाँ रंगीन है

वर्ना भीगी पलकों से तो आईना भी धुंधला दिखता है

er kasz

पूँछा जो मैंने उससे मुझको भुला दिया कैसे

चुटकी बजा के वो बोला- ऐसे ऐसे ऐसे

हुनर सड़कों पर तमाशे करता है

और किस्मत महलो में राज करती है

मुझे मेरे कल कि फिक्र तो आज भी नही है

पर ख्वाहिश तुझे पाने कि कयामत तक रहेगी

दिलो जान से करेंगे हिफ़ाज़त उसकी

बस वो एक बार कह दे की वो मेरा है

छेड़कर जमानेभर की लड़कियों को रोया वो रातभर

जिस रोज घर उसके बिटिया ने जन्म लिया

Load More
Top