logo

Whatsapp Number: +91-90416-06444

खुद को खोने का पता नहीं चला

किसी को पाने की यूँ इन्तहा कर दी मैंने

तुझे देखकर ही शुरू होती है मेरी हर सुबह

फिर कैसे कह दूँ के मेरे दिन खराब है

Kadam Ruk Se Gaye Hain Phool Biktey Dekh Kar Woh

Aksar Kaha Krta Tha Muhabbat Phool Jaisi Hai

Dum tod rahy parinde ko pani tak na diya gaya

Aur ab wo parinde ko bewafa kah rahay hain

Hum me to khair himmat hai itna dukh sehne ki

Tum itna dukh dete ho thak to nahi jate

वाह वाह बोलने की ‪आदत‬ डाल लो दोस्तों

मै ‪मोहब्बत‬ में अपनी ‪‎बरबादियां‬ लिखने वाला हुं

सुना है आज उस की आँखों मे आसु आ गये

वो बच्चो को सिखा रही थी की मोहब्बत ऐसे लिखते है

मुझे भी जरुरुत है तेरी बाहो की

दुनिया के वजूद और दुनिया के रास्ते बहुत कमजोर है

तुम्हे तकलीफ न हो जरा भी चलने में

लो यह दिल चप्पल की जगह पहन लो

er kasz

Agar palak pe hai moti to ye nahin kaafi

Hunar bhi chahiye alfaaz me pironay Ka

मुस्कान भरे चेहरे के पीछे कितनी तड़प कितनी आग है

एक शायर कहीं छिपा हुआ था चेहरा दिखाया आज है

कुछ लोग मेरी शायरी से सीते हैं अपने जख्म

कुछ लोगों को मैं चुभता हूँ सुई की नोक के जैसे

तेरे ही वफ़ा के सिलसिले बदल गए हैँ

मुझे तो आज भी तुमसे अज़ीज कोई नहीँ

साथ जब भी छोड़ना तो मुस्कुरा कर छोड़ना

ताकि दुनिया ये ना समझे हम में दूरी हो गई

Andheri raat mere dil ki bechaini ko kya jaane

Basi hai neend aankho n mein magar soya nahi jaata

महोब्बत रहे या ना रहे

स्कुल की बेन्च पर तेरा नाम आज भी है

खुद मुशकुराती हो और हमको रुलाती हो

क्यों निगाहे मिलकर, इस दिल को तडपाती हो

सारी दुनिया की खुशी अपनी जगह

उन सबके बीच तेरी कमी अपनी जगह

Bharosa Mat Karna Is Duniya Ke Logon Pe

Mujhe Tabah Karne Wala Mera Bahot Azeez Tha

माना कि बहुत ख़ास हूँ मैं कुछ लोगो के लिए

लेकिन चन्द लम्हों से ज्यादा कोई ना रोयेगा मेरे गुजर जाने के बाद

Load More
Top