logo

Whatsapp Number: +91-90416-06444

तेरी आँखो की नज़र से जो भी एक बार टकराया होगा

मुझे नही लगता वो अब तक घर पहुँच पाया होगा

क्या बुरी चीज है मोहब्बत भी

बात करने में आख भर आयी

Dekha wahi hua na bichadne par baat aa phunchi

mene tujhse kaha tha purani baat mat kar

ए इश्क मुझको कुछ और जख्म चाहियें

अब मेरी शायरी में वो बात नहीं रही

कहने में तो मैंरा दिल एक है

लेकिन जिसको दिल दिया वह हजारों में एक हैं.

ना मिल रहा है तू ना खो रहा है तू

बहुत दिलचस्प हो रहा है तू

देख पगली मिलना तो हम तब भी चाहेंगे आपसे

जब आपके पास वक्त ओर हमारे पास सांसो की कमी होगी

‪‎Babu‬ or‪ ‎Janu‬ kehne vali koi nahi to kya hua

Meri MAA Roj muje Mera Hero kehti he or utna mere Liye kafi he

अगर होता है इत्तेफाक़ तो यूँ क्यों नहीं होता

तुम रास्ता भूलो और मुझ तक चले आओ

दिल से ज़्यादा महफूज़ जगह नहीं दुनिया में

पर सबसे ज़्यादा लापता लोग यहीं से होते हैं

पत्थर की दुनिया जज़्बात नही समझती,
दिल में क्या है वो बात नही समझती,
तन्हा तो चाँद भी सितारों के बीच में है,
पर चाँद का दर्द वो रात नही समझती…

अजब तमाशा है मिट्टी से बने लोगों का
बेवफ़ाई करो तो रोते हैं अगर वफ़ा करो तो रुलाते हैं...

क़ुसूर नहीं इसमें कोई उनका

मेरी चाहत ही इतनी थी की उनको गुरूर आ गया

अक्सर जीनहे हम सबसे ज्यादा प्यार करते हैं.....

उनही पर सबसे ज्यादा गुस्सा करते हैं....

जब नजर से नजर मिली तब नजर ने नजर कहा

ए नजर इस नजर को इस नजर से न दखे कि कही नजरो को नजर न लग जाए

खत लिखती हूं मै आपको नीली स्याही से

फट जाता है कलेजा मेरा आपकी जुदाई से

मैंने देख पलट के तो हुस्न यार शरमा गया

हाथ बढ़ाया मैंने तो बाहों में मेरी समा गया

दिल दिया है तो दिल मिला भी होगा किसी से

क्यों इश्क में हिसाब किए फिरते हो

इतनी मनमानियाँ भी अच्छी नहीं होती

तुम सिर्फ अपने ही नहीं मेरेे भी हो

न होता कोई ताल्लुक तो खफ़ा क्यों होती

बेरुखी भी उसकी मुहब्बत का पता देती है

Load More
Top