logo

Whatsapp Number: +91-90416-06444

Wafa karne se mukar gaya hai dil

Ab pyaar karne se darr gaya h dil

Ab kisi sahare ki baat mat karna

Jhute dilaso se bhar gaya h dil

Jab bulate the jinda dil the hum

Ab na aana ke marr gaya hai dil

Ab wo pagalpan na wehshat hai

Kha k dhoke itne sambhal gya hai dil

वो जो बन के दुश्मन मुझे जीतने को निकले थे

कर लेते अगर मोहब्बत मैं खुद ही हार जाता

Aur Kya Chahti Hai Gardish-e-Ayyam Ki Hum;
Apna Ghar Bhul Gaye Unki Gali Bhul Gaye

Muje aadat nhi kahi itni der rukne ki ...
Par
Tere darsn hote ho mere paw muje aage badne hi nhi dete

हो सके तो अब कोई सौदा न करना

मैं पिछली मोहब्बत में सब हार आया हूँ

er kasz

जितनी भीड़ बड़ती जा रही है ज़माने में

लोग उतने ही अकेले होते जा रहे हैं

अब इन पलकों का परदा न उठायेंगे हम

एक बार उठाया तो इल्ज़ाम क़त्ल का लगा दिया

अपना इनाम लेकर ही मानेगा

ये इश्क है जान लेकर ही मानेगा

मेरे अपने कहीं कम न हो जाएँ

इस डरसे मुसीबत में किसी को आजमाता नहीं

ठान लिया था किअब और नहीं लिखेंगे

पर उन्हें देखा और अल्फ़ाज़ बग़ावत कर बैठे

चादँ के साथ कई दर्द पुराने निकले

कितने ग़म थे जो तेरे ग़म के बहाने निकले

Sozish-e-batin Ke Hain Ahbaab Munkir Warna Yaan;
Dil Maheet-e-girya Aur Lab Aashnaa-e-khanda Hai

Sozish-e-Batin = Inner aches
Maheet-e-Girya = Tearful waste
Aashnaa-e-Khanda = All smiles

Naa kar tu itne koshisise Mere dard ko samajne ki

Tu pahle ishq kar fir chot kha Phir likh dawa mere dard ki

Chaale Jayenge Ek Din Hum Tujhe Tere Haal pe Chod kar E Sitaamgar

Kadaar Kya Hoti Hai Tuje Waqt Sikhaa Degaa

इतना भी प्यार किस काम का.
भूलना भी चाहो तो नफरत की हद्द तक जाना पड़े.

खामोशियाँ कर दे बयां तो अलग बात हैं

कुछ दर्द ऐसे भी हैं जो लफ्जों में उतारे नही जाते

अपना इनाम लेकर ही मानेगा

ये इश्क है जान लेकर ही मानेगा

बुरे हैं ह़म तभी तो ज़ी रहे हैं

अच्छे होते तो द़ुनिया ज़ीने नही देती

लगाई तो थी आग उनकी तस्वीर में रात को

सुबह देखा तो मेरा दिल छालो से भर गया

er kasz

बुलंदी की उड़ान पर हो तो जरा सब्र रखो

परिंदे बताते हैं, आसमान में ठिकाने नहीं होते

er kasz

Load More
Top